हमें स्वस्थ व सुखी झारखंड बनाना है : रामचंद्र चंद्रवंशी

0
30

रांची। प्रदेश मे 10 अगस्त से एक से 19 वर्ष तक के एक करोड़ 38 लाख बच्चों को एल्बेंडाजॉल की टैबलेट विभिन्न स्कूलों, आंगनबाड़ी केंद्रों, स्वास्थ्य केंद्रों में मुफ्त खिलायी जायेगी इस टैबलेट को खिलाने के लिए राज्य के 47,708 शिक्षकों व 38,432 आंगनबाड़ी सेविकाओं को प्रशिक्षित किया गया है
स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी ने गुरूवार को जिला स्कूल में स्वास्थ्य विभाग की ओर से आयोजित राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस का उद्घाटन करने के बाद लगभग आधा दर्जन बच्चों को एल्बेंडाजॉल की टैबलेट खिलाकर इसकी शुरूआत की। उन्होंने कहा कि एल्बेंडाजॉल टैबलेट से उनमें एनीमिया, खून की कमी नहीं होगी। साथ ही बच्चों को मानसिक और शारीरिक समस्याएं नहीं आयेंगी। इस दौरान जो भी बच्चे छूट जायेंगे, उन्हें 17 अगस्त को दवा खिलायी जायेगी। उन्होंने कहा कि राज्य को कृमि मुक्त कर स्वस्थ झारखंड का निर्माण करें। इसमें सबका सहयोग जरूरी है।। उन्होंने अभिभावकों से अपील की कि बच्चों को साफ सुथरा रखें ताकि वह किसी बीमारी की चपेट में नहीं आयें।। बच्चों को एल्बेंडाजॉल का टैबलेट नहीं देने से बच्चों में एनीमियां, कुपोषण हो सकता है। इसलिए बच्चों को एल्बेंडाजॉल की दवा जरूर खिलायें जिसका कोई भी साइड इफेक्ट नहीं है।
स्वास्थ्य विभाग की प्रधान सचिव निधि खरे ने कहा कि कृमि बच्चों के विकास में बाधक होता है। इससे एनिमिया और कुपोषण का भी खतरा बना रहता है। पर कई लोग इस बात को गंभीरता से नहीं लेते। हमारा देश उन देशों में है, जहां कृमि संक्रमण और इससे संबंधित रोग सबसे अधिक पाये जाते हैं। खासकर पूर्वी एशिया और अफ्रीका के बच्चों में कृमि का संक्रमण ज्यादा देखा जाता है। इसलिए इस कार्यक्रम का प्रभावी ढंग से चलना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि हमारे लिए यह चुनौती है कि सुदूरवर्ती इलाकों तक कैसे पहुंचा जाये। इसमें हमें सफल होना है। उन्होंने कहा कि सभी अभिभावक अपने बच्चों को एल्बेंडाजॉल दवा जरूर खिलायें। ये दवा सभी स्वास्थ्य केंद्रों में निःशुल्क उपलब्ध करवायी जायेगी। इस अवसर पर एनएचएम के अभियान निदेशक कृपानंद झा, जिला शिक्षा पदाधिकारी रतन महावर, नोडल पदाधिकारी डॉ वीणा सिन्हा, डॉ अजीत प्रसाद आदि उपस्थित थे।
एजेंसी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here