भाजपा ने मनाया डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी का बलिदान दिवस

0
76

देहरादून। भारतीय जनसंघ के संस्थापक अध्यक्ष डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस पर शनिवार को देहरादून में बूथ स्तर पर कार्यक्रम आयोजित किए गए। सभी विधानसभा क्षेत्र और भाजपा के संगठनात्मक मंडलों ने इन कार्यक्रमों का आयोजन किया।
कैंट विधानसभा के वार्ड 53 मोहित नगर की बूथ संख्या 103 पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने कहा कि अगर पंजाब और बंगाल हिंदुस्तान का हिस्सा है, तो इसका श्रेय डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी को जाता है। डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी त्याग और बलिदान की प्रतिमूर्ति हैं। श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने नेहरू के तुष्टिकरण की नीतियों का विरोध करते हुए देश के पहले केन्द्रीय मंत्रिमंडल से त्यागपत्र देने का साहसिक निर्णय लेने के साथ-साथ देशहित के लिए एक राष्ट्रवादी राजनीतिक दल जनसंघ की नींव डालने का कार्य किया, आज उन्हीं के दृढ़ संकल्प और दिखाए हुए रास्ते पर चलकर चाहे अटल बिहारी वाजपेई हो या वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश में तुष्टीकरण रहित आम जनता की भलाई के लिए सबका साथ-सबका विकास के नारे पर सच्चे अर्थों में काम कर रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश की सरकारें भी उसी मार्ग का अनुसरण करते हुए जनता के दिलों में गहराई तक अपना स्थान बना रही हैं।
इस अवसर पर संबोधित करते हुए महानगर अध्यक्ष विनय गोयल ने कहा कि कांग्रेस की संस्कृति हमेशा भोग की रही है और भाजपा की त्याग की। इसीलिए कांग्रेस ने सत्ता की भूख के लिए आजादी के बाद कांग्रेस को भंग कर देने की महात्मा गांधी की सलाह को नहीं माना। कांग्रेसी सत्ता का सुख भोगने के लिए प्रपंच रचते रहे, जबकि भाजपा के नेतृत्व में अपने स्वयं की और परिवार की चिंता ना करते हुए देश को ही अपना परिवार माना और उसका प्रत्यक्ष उदाहरण हम आज देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी में भी देख सकते हैं। गोयल ने बताया कि देहरादून महानगर में 636 बूथों पर डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी बलिदान दिवस के कार्यक्रम किए गए। रविवार को सभी बूथों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मन की बात सुनने के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।
एजेंसी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here