पूर्व राज्य मंत्री राधेश्याम ने किया न्यायालय में आत्मसमर्पण, मिली जमानत

0
31

कुशीनगर। सपा नेता व पूर्व राज्य मंत्री राधेश्याम सिंह ने शुक्रवार को कसया एसीजेएम चंद्रमोहन चतुर्वेदी के न्यायालय में आत्मसमर्पण किया। न्यायालय ने पूर्व मंत्री के विरुद्ध एक मामले में गैर जमानती वारंट जारी किया था। मुकदमा दस वर्ष पूर्व हाटा कोतवाली के गांव सिकटिया स्थित मंदिर से चोरी हुई मूर्ति की बरामदगी के लिए किए गए आंदोलन को लेकर पुलिस ने दर्ज किया था।
मुकदमे में जारी गिरफ्तारी वारंट के बाद सिंह न्यायालय में हाजिर हुए थे। सुनवाई के बाद न्यायालय ने सिंह की जमानत स्वीकार करते हुए 50-50 हजार के दो बेल बांड प्रस्तुत करने पर उन्हें रिहा करने का आदेश दिया। बता दें की वर्ष 2010 में हाटा कोतवाली के गांव सिकटिया के रामजानकी मंदिर से चोरों ने करोड़ों रुपये की बेशकीमती मूर्ति चुराई थी। मामले में मुकदमा दर्ज नहीं किए जाने पर ग्रामीणों संग पूर्व राज्यमंत्री ने आंदोलन किया था।
इस पर पुलिस ने पूर्व राज्यमंत्री सहित 21 लोगों के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया था। मामला कसया न्यायायल में पहुंचा तो किसी ने जमानत नहीं कराई। सिंह ने उच्च न्यायालय से गिरफ्तारी पर स्टे प्राप्त कर लिया। इसी बीच प्रदेश में सपा की सरकार बनी और राधेश्याम राज्यमंत्री बने। सरकार ने मुकदमा वापस लेने का आदेश दिया, लेकिन न्यायालय ने उस आदेश को खारिज कर दिया। इस आदेश के विरुद्ध सिंह हाईकोर्ट गए तभी से यह मामला लंबित था।
इसी बीच हाटा में घटित एक दैवीय आपदा व किशोरी के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटनाओं को लेकर भाजपा विधायक व उनके बीच हुए विवाद को लेकर तल्खी बढ़ गई। न्यायालय द्वारा बीते गुरुवार को जारी गिरफ्तारी वारंट को इसी से जोड़कर देखा जा रहा है। ठंडे बस्ते में पड़े मामले में अचानक न्यायालय की सक्रियता और जारी किए गए ताजा आदेश की भनक लगते ही आदेश के अगले ही दिन सिंह ने अपने सहयोगी व मुकदमें में आरोपित तहसीलदार राव के साथ न्यायालय में आत्म समर्पण कर दिया।
पूर्व मंत्री ने कहा कि सत्तारूढ़ दल के नेताओं के पास उनके विरुद्ध कोई मुद्दा नहीं था तो उन्होंने पुराने मामले को जिंदा कर उनको गिरफ्तार कराने का कुचक्र रचा था। पूर्व मंत्री ने कहा कि संघर्ष हमारी पूंजी है। जनांदोलन को लेकर दर्जनों बार जेल जा चुका हूं। इस बार भी कोई भय नहीं है। आगे भी जनता के लिए संघर्ष और आंदोलन करने में पीछे नहीं हटेंगे।
एजेंसी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here