देवी दुर्गा को प्रसन्न करने के लिए छात्र ने मन्दिर में गला काटा, मौत

0
20

बाराबंकी। जिले के कोटवा धाम मन्दिर में आराध्य देवी दुर्गा को प्रसन्न करने के लिए बीए के छात्र ने खुद की गर्दन काट ली। इसके बाद उसकी तड़प-तड़पकर मौत हो गई। घटना के बाद परिसर में दहशत फैल गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।
दरियाबाद थाना क्षेत्र में उड़वा गांव का रहने वाला अनिरुद्ध यादव रोजाना की तरह सोमवार को कोटवा धाम दुर्गा मन्दिर दर्शन करने के लिए पहुंचा। मन्दिर में पूजा के बाद युवक ने चापड़ से अपना सिर काट लिया। युवक की चीख-पुकार सुनकर मन्दिर में मौजूद भक्तों में अफरा-तफरी मच गई। मन्दिर के पुजारियों ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर मामले की जांच शुरू कर दी।
पुलिस अधीक्षक वीपी श्रीवास्तव ने बताया कि अनिरुद्ध ग्रेजुएशन कर चुका है। वह प्रतिदिन देवी के दर्शन करने के लिए आता था। पिता से पता चला है कि एक साल तक उसने अनाज का एक दाना भी नहीं छुआ, अर्थात वह व्रत रहता था। कई घंटों तक मन्दिर में पूजा पाठ करने के बाद अनिरुद्ध अपनी दैनिक दिनचर्या पूरी करता था। रोजाना की तरह वह सोमवार को भी मन्दिर आया और पूजा-पाठ करने के बाद चापड़ से गला काट लिया और उसकी मौके पर ही मौत हो गई।
उन्होंने बताया कि परिजन लड़के का पोस्टमार्टम के लिए तैयार नहीं हैं। इसलिए मैंने एडिश्नल एसपी को मौके पर भेजा है जिससे वह पोस्टमार्टम के लिए तैयार हो जाएं। अगर गांव वाले नहीं मानेंगे तो शव का पंचनामा करवाकर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here