डेंगू से पीड़ित एक और युवती ने दम तोड़ा, भिलाई में अब तक 22 की मौत

0
103

रायपुर। छत्तीसगढ़ के भिलाई में डेंगू से मौतों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। सरकार के डेंगू नियंत्रण के लाख दावों के बीच रायपुर के निजी अस्पताल में बीती रात एक युवती ने दम तोड़ दिया। जिले में अब तक डेंगू के चलते 22 लोगों की मौत हो चुकी है।

भिलाई के छावनी स्थित शंकर नगर निवासी 19 वर्षीय छाया वैष्णव को भिलाई से रायपुर उपचार के लिए रेफर किया गया था। बीएससी फर्स्ट ईयर की छात्रा छाया वैष्णव की मौत के बाद गुस्साए स्थानीय लोगों ने ट्रांसपोर्ट नगर सड़क पर तीन घण्टे तक चक्का जाम कर दिया और प्रशासन से छावनी के सभी अवैध खटालों को हटाने की मांग की। इस पर पुलिस प्रशासन और निगम के तोड़फोड़ अमले ने खटाल को हटाने की कार्यवाही शुरू की और खटाल संचालकों को नोटिस दिए हैं। अस्पतालों में निशुल्क इलाज की घोषणा के बाद भी रायपुर के बालाजी अस्पताल और खुर्सीपार के आईएमआई हॉस्पिटल में इलाज के बदले पैसे मांगने का आरोप परिजनों ने लगाया है।

दिल्ली से आये केंद्रीय जांच दल ने कल भिलाई के डेंगू प्रभावित क्षेत्र छावनी बस्ती का निरीक्षण किया था। जांच दल में नेशनल सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल (एनसीडीसी) के दिल्ली से सहायक निर्देशक डॉ. अमर भदौरिया और जगदलपुर एनसीडीसी के विशेषज्ञ मौजूद थे।

इधर अस्पताल में डेंगू पॉजीटिव मरीजों की संख्या फिर से बढ़ने लगी है। जिला प्रशासन के अनुसार अब तक 600 से अधिक डेंगू के पॉजीटिव मरीज सामने आए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here