झारखंड के माथे से भ्रष्टाचार रूपी कलंक हटाकर रहेंगे : रघुवर दास

0
19

रांची। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि हमे ये बात हमेशा याद रखनी है कि ये आजादी हमें यूं ही नहीं मिल गयी। इसको हासिल करने के लिए अनगिनत स्वतंत्रता सेनानियों ने अपने प्राणों की आहुति दी थी। आज उन सभी महापुरूषों को याद करने का दिन है। क्योंकि, जो देश और समाज अपने महापुरूषों और संस्कृति को याद नहीं रखता, उनका सम्मान नहीं करता, वक्त भी उन्हें भूला देता है। रघुवर दास बुधवार को मोरहाबादी में आयोजित 72वें स्वतंत्रता दिवस समारोह में बोल रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आजादी के संघर्ष में नारियों के बलिदान को भी हम भूल नहीं सकते। रानी लक्ष्मीबाई सहित झारखंड की फूलो, झानो के प्रति भी हृदय से नतमस्तक हूं। स्वतंत्रता दिवस का ये पावन पर्व हम झारखंडवासियों के लिए दोहरी खुशी लेकर आया है। श्रावणी मेला चल रहा है। श्रावणी मेला में आने वाले श्रद्धालु यहां की तारीफ कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उन पर भरोसा जताया, उस भरोसे पर खरा उतरने का प्रयास कर रहे हैं। झारखंड की सारी व्यवस्था बिगड़ी हुई थी| सिस्टम बेपटरी हो गया था। देश ही नहीं दुनियाभर में झारखंड का जिक्र अगर किसी बात के लिए होता था, तो वह था भ्रष्टाचार। हालात बेहद खराब थे| लेकिन मैने इस चुनौती को अवसर के रूप में लिया। हमने ठाना था कि विकास कार्यों के जरिये झारखंड के माथे से ये भ्रष्टाचार रूपी कलंक हटाकर रहेंगे। हमें अपने सवा तीन करोड़ जनता की जिंदगी में खुशहाली लानी है और उन्हें समृद्ध बनाना है। भ्रष्टाचार का जो कलंक झारखंड के माथे पर लगा दिया गया था, उसे धो दिया है। आज झारखंड की छवि पूरी तरह बदल गयी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जब भी कोई आपको बहकाने की कोशिश करे, तो सिर्फ एक ही काम करिये| साढ़े तीन साल पहले के झारखंड और आज के झारखंड की तुलना कर लीजिए। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने झारखंड का निर्माण किया था। भगवान बिरसा मुंडा और अटल जी के आदर्शों के अनुरूप हम ऐसे झारखंड के निर्माण में जुटे हैं, जहां कोई अभाव की जिंदगी नहीं जिये, बेशिक्षा, गरीब न रहे। झारखंड प्राकृतिक रूप से समृद्ध है, लेकिन यहां के लोग गरीब हैं। इसलिए कि आजादी के बाद से पिछली सरकारों ने ध्यान नहीं दिया। झारखंड आज विकास के पथ पर आगे बढ़ रहा है। इस बात को पूरा देश मान रहा है। विकास वृद्धि दर पर झारखंड दूसरे स्थान पर और ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में चौथे नंबर पर है। स्वच्छता सर्वेक्षण में झारखंड को बेस्ट परफार्मिंग स्टेट का अवार्ड मिला है। स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के मामले में झारखंड पूरे देश में नंबर वन है। हमने विकास का हर लक्ष्य हासिल कर लिया है। अभी हमें बहुत आगे जाना है। बीच-बीच में कठिनाइयां आती हैं| लेकिन वो हमारे काम का हिस्सा हैं। उन मुश्किलों को दूर कर राज्य को विकास के पथ पर और आगे लेकर जाएंगे। आज तक हमारे ऊपर भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा। सरकार ईमानदार एवं बेदाग है। हमारी कोशिश रहेगी कि किसी भी झारखंडवासी का सिर किसी भी वजह से नहीं झुके। मेरे लिए सवा तीन करोड़ जनता भगवान और मै आपका दास हूं।

रघुवर दास ने कहा कि अच्छे कार्यों की आलोचना करना, जनता में भ्रम का माहौल पैदा करना भी आजकल एक फैशन बन गया है। लोकतंत्र में हम आलोचना का स्वागत करते हैं, लेकिन आलोचना तथ्यों के आधार पर होनी चाहिए। जनता को बहकाने के लिए नहीं। जनता से भी मेरा आग्रह है कि आप किसी के बहकावे में मत आइए। दरअसल जो लोग अच्छे कार्यों की बुराई करते हैं, वो वास्तव में विकास विरोधी हैं। राज्य की सवा तीन करोड़ जनता अब जाग चुकी है| अब वह किसी के झांसे में नहीं आने वाली है। उन्होंने कहा कि नीयत अच्छी हो, इरादों में मजबूती हो और जमीर में ईमानदारी हो तो कोई लक्ष्य मुश्किल नहीं। झारखंड में न तो संसाधानों की कमी है और न ही प्रतिभा की कमी है। जरूरत है तो बस मजबूत इच्छाशक्ति और विकास कार्यों को सही दिशा देने की। साढ़े तीन साल में हमारी सरकार ने 31 लाख 50 हजार से ज्यादा रोजगार और स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराये हैं। अभी तक एक लाख से ज्यादा युवाओं को सरकारी नौकरी दी गयी है। जल्द ही 50 हजार सरकारी नौकरियां और उपलब्ध करायी जाएंगी। 14 लाख 50 हजार लोगों को पांच हजार चार सौ तीस करोड़ रुपये का मुद्रा लोन उपलब्ध कराया गया है। कौशल विकास प्रशिक्षण के जरिये 80 हजार से ज्यादा युवाओं को निजी क्षेत्र में रोजगार के अवसर उपलब्ध कराये गये हैं। आगामी राष्ट्रीय युवा दिवस तक निजी क्षेत्र में एक लाख रोजगार के अवसर और उपलब्ध कराये जायेंगे। मोमेंटम झारखंड के जरिये 50 हजार से ज्यादा युवाओं को रोजगार मिला है। स्टार्टअप इंडिया के लिए हमने 250 करोड़ रुपये का फंड बनाया है। झारखंड के विकास में हमें केंद्र सरकार का पूरा सहयोग मिल रहा है। प्रधानमंत्री ने गत माह झारखंड आकर राज्य को 30 हजार करोड़ रुपये की सौगात दी है। देवघर में एम्स और एयरपोर्ट, पतरातू पावर प्लांट और सिंदरी में खाद कारखाना, इससे न सिर्फ राज्य का विकास होगा, बल्कि रोजगार भी पैदा होंगे। पहले झारखंड में तीन मेडिकल कॉलेज थे। हमारी सरकार बनने के बाद पांच नये मेडिकल कॉलेज बन रहे हैं। उच्च एवं तकनीकि शिक्षा के क्षेत्र में पिछले साढ़े तीन साल में 10 नई यूनिवर्सिटी की स्थापना की गयी है। जिनमें पांच निजी और पांच सरकारी विश्वविद्यालय हैं। उन्होंने कहा कि हमें विरासत में बदहाल बिजली व्यवस्था मिली थी। 30 लाख घरों में अंधेरा था। हमने सभी गांवों में बिजली पहुंचा दी है और दिसम्बर 2018 तक सभी घरों में बिजली पहुंचा दी जाएगी। उजाला योजना के तहत पिछले ढाई साल में सवा करोड़ एलईडी बल्ब का वितरण किया जा चुका है। इससे प्रतिवर्ष 680 करोड़ रुपये उपभोक्ताओं के बच रहे हैं। स्वच्छ भारत मिशन में झारखंड बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रही है। राज्य के सभी 39 नगर निकाय ओडीएफ हो चुके हैं और दो अक्टूबर 2018 तक पूरा झारखंड ओडीएफ हो जाएगा।

रघुवर दास ने कहा कि महिलाओं का सम्मान, महिला सशक्तीकरण हमारे लिए नारा नहीं बल्कि एक लक्ष्य है। हाल के दिनों में महिलाओं के साथ कुछ अप्रिय घटनाओं की खबरें मिली हैं, जो समाज के लिए कलंक है। आज के दिन संकल्प लें कि महिलाओं एवं बेटियों का आदर करना एवं उनकी अस्मिता की रक्षा हम सबों का कर्तव्य है। झारखंड देश का पहला राज्य है, जहां 50 लाख रुपये की रजिस्ट्री एक रुपये में हो रही है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत सिलेंडर के साथ चूल्हा मुफ्त दिया जा रहा है। स्वास्थ्य के क्षेत्र में बेहतर काम हो रहा है। आयुष्मान भारत अंतर्गत प्रधानमंत्री स्वास्थ्य योजना के तहत सभी को मुफ्त स्वास्थ्य सुविधा देने की योजना है। राज्य के 67 लाख परिवारों में 57 लाख परिवारों को मुफ्त स्वास्थ्य सुविधा मिलने जा रही है। इस वर्ष नवम्बर में किसानों के लिए एक ग्लोबल एग्रीकल्चर व फूड समिट आयोजित की जाएगी। हमारी सरकार का लक्ष्य है कि विकास की धारा समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे। आपका भरोसा ही हमारी सबसे बड़ी ताकत है। मैं आपको भरोसा दिलाता हूं कि चाहे कुछ हो जाए, आपका सिर हमेशा गर्व ऊंचा ही रहेगा। हमें श्रद्धेय अटल जी और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सपनों का झारखंड बनाना है। भगवान बिरसा मुंडा के सपनों का झारखंड बनाना है। आइए, हम मिलकर वंशवाद, संप्रदायवाद, जातिवाद, भ्रष्टाचार, अशिक्षा, गरीबी और बेरोजगारी को मार भगायें। हम सवा तीन करोड़ झारखंडवासी मिलकर किसी राज्य नहीं बल्कि किसी भी देश के विकास से मुकाबला कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here