जिले के 34 उपस्वास्थ्य केंद्रों में लटके ताले से टीकाकरण काम हुआ ध्वस्त

0
24

जगदलपुर। बस्तर जिले में ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण आदि में सहायता देने वाले और ग्रामीणों को प्राथमिक उपचार प्रदान करने वाले 34 उपस्वास्थ्य केंद्रों में पिछले 1 अगस्त से ताले लटकने के कारण टीकाकरण का कार्य पूरी तरह ठप्प पड़ गया है जिसके कारण गर्भवती महिलायें व बच्चे बिना टीकाकरण के परेशान हो रहे हैं।
प्राप्त जानकारी के अनुसार पिछले एक अगस्त से बस्तर जिले के 34 उपस्वस्थ्य केंद्रों और 8 प्राथमिक स्वस्थ्य केंद्रों में स्वास्थ संयोजक कर्मचारी हड़ताल पर चले गए है और हड़ताल के कारण इन केंद्रों में ताले लटकने लगे हैं। इन केंद्रों के बंद होने से सबसे अधिक प्रभाव नवजात बच्चों व गर्भवती महिलाओं पर पड़ रहा है। हड़ताल के कारण सबसे प्रमुख कार्य आवश्यक टीके न लग पाने की परेशानी ग्रामीण लोगों को हो रही है।
सरकारी अस्पतालों में शिशुओं को छह गंभीर बीमारियों से बचाव के लिए लगने वाला आवश्यक टीका नहीं लग पा रहा है और बच्चों के स्वास्थ्य के लिए यह खतरनाक बन सकता है। इधर शासकीय अस्पतालों में स्थित टीकाकरण केंद्रों में टीका लगाने की व्यवस्था न होने से मरीजों को निजी चिकित्सकों के पास मजबूरी में जाना पड़ रहा है। निर्धन व गरीब होने से अधिकांश लोग यहां पर जाने से हिचक रहे हैं। इस प्रकार गर्भवती माताओं को गर्भकाल में लगने वाला टीका भी नहीं लग पाने से गर्भस्थ शिशुओं को भी बीमारियों का खतरा भी बना हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here