घुसपैठियों का साथ देने वालों को भी बांग्लादेश भेज दिया जाएगा : प्रभाकर

0
35

रांची। भाजपा ने घुसपैठियों के मुद्दे पर पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर पलटवार किया है। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता प्रवीण प्रभाकर ने मंगलवार को जारी बयान में कहा कि घुसपैठियों का साथ देने वालों को भी बांग्लादेश भेज दिया जाएगा। अगर हेमंत सोरेन को घुसपैठियों से इतना लगाव और सहानुभूति है, तो वह खुद भी बांग्लादेश जाने की तैयारी कर लें।

प्रभाकर ने कहा कि हेमंत सोरेन को शर्म आनी चाहिए कि देश की सुरक्षा एवं अखंडता के लिए खतरा एवं आतंकवाद व अपराध के वाहक बने दो करोड़ घुसपैठियों के समर्थन में वह राज्य के विकास के लिए समर्पित मुख्यमंत्री का भी अपमान करने से नहीं चूक रहे हैं। उन्होंने कहा कि घुसपैठियों के माध्यम से आतंकवादी संगठनों एवं पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ की पैठ राष्ट्रीय सुरक्षा व अखंडता पर खतरा पैदा कर रही है। इन इलाकों में प्रतिबंधित संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआइ) और जमात उल मुजाहिद्दीन बांग्लादेश (जेएसबी) जैसे आतंकी संगठनों की उपस्थिति के प्रमाण मिले हैं। प्रभाकर ने कहा कि झारखंड में हर हाल में नेशनल सिटीजन रजिस्टर (एनआरसी) लागू किया जाएगा और घुसपैठियों को वापस भेजा जाएगा।

घुसपैठियों का साथ देने वालों को भी बांग्लादेश भेज दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि हेमंत सोरेन भी ममता बनर्जी की तरह बांग्लादेशी घुसपैठियों के संरक्षक बन गए हैं और घुसपैठ को राजनीतिक संरक्षण दे रहे हैं। घुसपैठ से संथाल परगना सबसे ज्यादा प्रभावित है और इससे यहां की संस्कृति प्रभावित हो रही है। पाकुड़, साहेबगंज, गोड्डा आदि जिलों में स्थिति भयावह है। ये गलत कागजात बनवाकर सरकारी योजनाओं का लाभ ले रहे हैं और राज्य के अल्पसंख्यकों का हक मार रहे हैं। प्रभाकर ने कहा कि इनके अलावा घुसपैठियों के चोरी, लूटपाट, डकैती, हथियार एवं पशु तस्करी, जाली नोट एवं नशीली दवाओं के कारोबार जैसी आपराधिक गतिविधियों में शामिल होने के कारण कानून व्यवस्था पर गंभीर खतरा पैदा हो गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here