अर्जेंटीना अंतिम-16 में, नाइजीरिया को 2-1 से हराया

0
76

सेंट पीटर्सबर्ग। ‘फीफा विश्व कप-2018’ में अर्जेंटीना की टीम बाहर जाते-जाते अंतीम-16 में लौट आई। पिछले तीन विश्व कप में लगातार नॉकआउट स्टेज तक जाने वाली अर्जेंटीना ने एकजुटता का परिचय देते हुए मंगलवार को ग्रुप ‘डी’ के निर्णायक मुकाबले में नंबर दो पर आसीन नाइजीरिया को 2-1 गोल से हराकर तीसरे स्थान पर धकेल दिया। मैच में बेशक स्टार खिलाड़ी लियोनेल मेसी ने शुरुआती गोल दागकर टीम को 1-0 की बढ़त दिलाई, लेकिन टीम की निर्णायक जीत का श्रेय मैनचेस्टर युनाइटेड के डिफेंडर और हीरो मार्कोस रोजो को ही दिया जा रहा है।
अर्जेंटीना के खिलाड़ी और दर्शक दीर्घा में जीत की आस में आये सर्वकालीन महान डिएगो मारडोना मार्कोस के विजयदायी गोल को भुला नहीं सकेंगे, जब उसने लंबी सीटी बजने के चंद मिनट पूर्व 87वें मिनट में नाइजीरिया के दो रक्षकों को छकाते हुए गोल किया। इसी गोल के साथ अर्जेंटीना ने 2-1 से मौच जीत कर अंतिम-16 में अपनी जगह पक्की कर ली। इसे संयोग ही कहा जाए कि मार्कोस रोजो ने विश्व कप में अपने तीन गोल नाइजीरिया के खिलाफ ही किए हैं।
नाइजीरिया भी कम आक्रामक नहीं थी। नाइजीरिया ने खेल के उत्तरार्ध के शुरुआती मिनटों में एक के बाद एक आक्रमण करते हुए पेनल्टी से गोल कर 1-1 की बराबरी कर ली, लेकिन नाइजीरिया के खिलाड़ी अपनी टीम को जीत नही दिला सके। पिछले कई विश्व कप में नॉकआउट तक जाने वाली नाइजीरिया टीम के लिए यह दुखद क्षण रहा कि वह 1994 के बाद पहली बार ग्रुप में तीसरा स्थान लेकर स्वदेश लौट रही है।
अर्जेंटीना के लिए यह भी खुशकिस्मत रहा कि इस ग्रुप के दूसरे मैच में क्रोशिया ने आइसलैण्ड को 2-1 से हराया और तीन मैचों में तीन जीत के साथ नौ अंक लेकर ग्रुप में पहले स्थान पर रही। अर्जेंटीना ने तीन मैचों में चार अंक लेकर दूसरे स्थान के साथ अंतिम-16 में प्रवेश कर लिया। नाइजीरिया और आइसलैंड को विश्व कप से बाहर जाना पड़ा है। क्रोशिया की ओर से मिलान बादेलिज (53वें मिनट), इवान पेरिसिक (90वें मिनट) और आइसलैण्ड की ओर से ग्यलिफि सिगरोस्सों (76वे मिनट) में गोल किया। अर्जेंटीना का प्रीक्वार्टर फाइनल में शनिवार को ग्रुप ‘सी’ की विजेता फ्रांस से मुकाबला होगा।
एजेंसी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here