“अजेय भाजपा” की गूंज,कहा महागठबंधन के पास न नेता और न ही नीति: प्रकाश जावड़ेकर

0
36

दिल्ली/राजेश कुमार

चुनावी मोड में आ चुकी बीजेपी की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में आगामी विधानसभा और लोकसभा चुनाव पर खास फोकस रहा।बैठक में मिशन 2019 का रोडमैप भी तैयार किया गया।हालांकि बैठक में बीजेपी अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के मुद्दे पर चर्चा करने से बचती हुई नजर आई। बैठक के आखिरी दिन रविवार को केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने राजनीतिक प्रस्ताव पेश किया जिसका हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और अविनाश राय खन्ना ने समर्थन किया। इस प्रस्ताव में भी राम मंदिर मुद्दा कहीं नजर नहीं आया।2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी बीजेपी ने रविवार को बड़ा ऐलान भी किया है। पार्टी की राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में सर्वसम्‍मति से यह फैसला लिया गया है कि पार्टी 2019 का लोकसभा चुनाव पार्टी अध्‍यक्ष अमित शाह के नेतृत्‍व में लड़ेगी। साथ ही इसमें पार्टी के संगठन के चुनाव को भी एक साल के लिए टालने पर सर्वसम्‍मति से फैसला लिया गया है।

गुंजा अजेय भाजपा

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने सिर्फ जीत का ही मंत्र नही दिया बल्कि ये ऐलान किया की बीजेपी आगामी लोकसभा चुनाव में 2014 से भी ज्यादा सीटें जीतेगी।साथ ही राष्ट्रीय पदाधिकारियों एवं राज्य इकाई के अध्यक्षों की बैठक में शाह ने अजेय भाजपा का नारा भी दिया। उन्होंने कहा, ”महागठबंधन एक ढकोसला, भ्रांति और झूठ है। इसमें शामिल पार्टियां 2014 में भाजपा से हार चुकी हैं। गठबंधन बेअसर साबित होगा।।हालांकि बैठक में ये भी फैसला लिया गया की अमित शाह ही लोकसभा चुनाव तक पार्टी अध्यक्ष बने रहेंगे। यूं तो उनका कार्यकाल जनवरी 2019 में पूरा हो रहा है।ऐसे में आम चुनाव के मद्देनज़र संगठन चुनाव को टाला जाएगा।

अविश्वास प्रस्ताव कांग्रेस की हानिकारक नीति

शाह ने कहा कि “अविश्वास प्रस्ताव दो स्थितियों में लाया जाता है। सरकार बहुमत गंवा दे या सरकार जनता के लिए चिंता का विषय बन जाए। इन स्थितियों के बिना भी विपक्ष इसे लेकर आया। यह उनकी हानिकारक राजनीति दर्शाता है।उन्होंने ये भी कहा की पड़ोसी देशों के अल्पसंख्यकों का भारत में स्वागत यानी “अगर अफगानिस्तान, पाकिस्तान या बांग्लादेश के हिंदू, सिख, बौद्ध, ईसाई या जैन शरणार्थी बनने के लिए संपर्क करेंगे तो उन्हें यह दर्जा देने में कोई हिचकिचाहट नहीं होगी।”

जीत सुनिश्चित बस मुद्दों पर डंटे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी चुनावों में जीत के लिए पार्टी नेताओं को जीत का मंत्र दिया है। पीएम मोदी ने चुनावी राज्यों की रिपोर्टिंग के समय पार्टी नेताओं को विपक्ष के जाल में न फंसने की सलाह दी। उन्होंने बीजेपी नेताओं को जीत का मंत्र देते हुए कहा कि ‘विपक्ष के जाल में न फंसे और अपने ही मुद्दों पर डंटे रहें। जीत अवश्य होगी,’ पीएम मोदी ने पार्टी नेताओं को जीत का स्पष्ट मंत्र दे दिया है कि उन्हें सिर्फ अपने ही मुद्दों पर डंटे रहना है और विपक्ष के झांसे में आने से बचना है।

यू टर्न राम मंदिर के मुद्दें पर

हालांकि बीजेपी आधिकारिक तौर पर कह चुकी है कि वह मंदिर मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करेगी। लेकिन पार्टी के कुछ नेताओं के साथ संत समाज अक्सर राम मंदिर निर्माण की मांग दोहराते रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट में लंबित राम मंदिर के मुद्दे पर उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के बाद अब उनके एक सहयोगी विधायक ने अपनी राय रखी है।फर्क बस इतना है कि केशव मौर्य ने मंदिर निर्माण के लिए कानून लाने की बात कही थी, जबकि मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने न्यायपालिका को ही अपना बता दिया है।बहराइच की कैसरगंज सीट से बीजेपी विधायक मुकुट बिहारी वर्मा से जब राम मंदिर निर्माण पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि बीजेपी विकास के मुद्दे पर सत्ता में आई है, लेकिन राम मंदिर बनेगा, क्योंकि यह हमारा कृतसंकल्प है।

महागठबंधन के पास न नेता न ही नीति

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक में रविवार को प्रकाश जावड़ेकर ने महागठबंधन पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि महागठबंधन के पास न तो कोई नेता और और न ही नीति। इसलिए विपक्ष बुरी तरह से हताश हो चुका है। उनका एकमात्र एजेंडा केवल मोदी को रोकने का है। हालांकि प्रेस कांफ्रेंस करने आए प्रकाश जावड़ेकर से जब मंदिर मुद्दे पर सवाल किया गया तो वो जवाब देने से बचते हुए नजर आए और उन्होंने कहा कि आज की चर्चा में यह विषय नहीं था। उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह की जोड़ी की वजह से आज 350 से ज्यादा सांसद, 1500 से ज्यादा विधायक और 19 राज्यों में बीजेपी की सरकार है। बैठक में कांग्रेस पर देश को तोड़ने का आरोप लगाते हुए कहा की पीएम मेंकिंग इंडिया के बदले कांग्रेस ब्रेकिंग इंडिया पर काम कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here